.

पृथ्वी से टकरा सकता है Solar storm वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी



अगले 48 घंटों में सोलर स्टॉर्म पृथ्वी से टकरा सकता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इससे सूर्य में एक कोरोनल होल ओपन होगा। इससे भारी मात्रा में कॉस्मिक पार्टिकल्स निकलेंगे। यह धरती पर टेक ब्लैकआउट कर सकते हैं। यानी इससे सैटेलाइट सेवाएं बाधित होंगी। मोबाइल सिग्नल, केबल नेटवर्क, जीपीएस नेविगेशन आदि ठप्प पड़ सकते हैं। नेशनल ओशन एंड अटमॉस्फियर एसोसिएशन (NOAA) का कहना है कि, यह सोलर स्टॉर्म जी-1 कैटेगरी का है। इससे काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है।

क्या होगा असर

- एक्सपर्ट्स का कहना है कि, इसके नतीजे पोलर लाइट्स से भी कहीं ज्यादा सीरियस हो सकते हैं।

- साइंटिस्ट ने वॉर्न किया है कि, सोलर स्टॉर्म सैटेलाइट बेस्ड टेक्नोलॉजी पर इफेक्ट डालेगा। इससे टेक ब्लैकआउट होने की आशंका है।

- इससे बड़ी मात्रा में रेडिएशन रिलीज हो सकता है। यह कैंसर जैसी गंभीर बीमारी देता है।

- पृथ्वी की मैग्नेटिक फील्ड ह्युमंस को रेडिएशन से प्रोटेक्ट करती है, लेकिन सोलर स्टॉर्म सैटेलाइट बेस्ड टेक्नोलॉजी पर असर डालेगा।

- इस आंधी का सबसे ज्यादा असर यूएस और यूके में पड़ने की आशंका जताई जा रही है।

- सौर तूफान सूर्य की सतह पर आए क्षणिक बदलाव से बनते हैं। इन्हें 5 कैटेगरी जी-1, जी-2, जी-3, जी-4 और जी-5 में बांटा गया है।  इनमें जी-5 श्रेणी का तूफान सबसे डेंजर हो सकता है।

No comments:

Post a Comment